Hanuman Chalisa में है वो इतनी ताकत कि बन सकते हैं, आपके सभी बिगड़े काम

Hanuman Chalisa: हमारे हिंदू धर्म में हर चीज के पीछे कोई न कोई कारण जुड़ा हुआ है। हम हर छोटी चीज में आध्यात्मिकता जोड़ देते हैं। ऐसा नहीं है कि ये सब बेबुनियादी और बेमतलब का है। लेकिन फिर भी लोग इसके मतलब को ठीक से नहीं समझते और इसी कारण से हम इसके पीछे के कारणों को समझे बिना ही अपनी टिपण्णी देना आरम्भ कर देते हैं। कुछ लोग बढ़ी श्रद्धा से इसे पढ़ते नजर आ जाएंगें और कुछ लोगों के लिए यह केवल एक भजन के सामान है।

खासकर के आज की युवा पीढ़ी के लिए, जो भगवान्, पाठ पूजा को व्यर्थ समझते हैं। लेकिन असल में कुछ इससे जुड़ें और अपने आप को जोड़ना भी चाहते हैं। लेकिन मेरे मन में भी हमेशा से ऐसा प्र्शन रहा है कि असल में हनुमान चालीसा क्या है? क्यों लोग इसे बहुत ही शक्तिशाली मानते हैं। बहुत से लोगों का कहना है कि Hanuman Chalisa में बहुत ताकत है और वो आपके बिगड़े काम बना देती है और जीवन के हर मोड़ पर आपकी रक्षा करती है। इसमें ऐसा क्या ख़ास है, जो आज के इस जीवन में भी इसे इतना लोकप्रिय बनाता है। 

मैंने आज इसकी जरुरत समझी और जानने का प्रयास किया कि असल में इस पुरे दोहों का मतलब क्या है? अक्सर हम पुराणों, भजनों और मंत्रो का अर्थ जाने बिना ही उसका उच्चारण और पाठन शुरू कर देते हैं। लेकिन आज इसके सही अर्थों को समझना भी जरुरी है। चलिए हम समझाते हैं कि असल में इस पूरी चालीसा का अर्थ क्या है?

sita-mata

हनुमान चालीसा बहुत ही पुरानी हिंदी की बोली अवधी में लिखी गयी है। अब समझते हैं कि क्या इसे पढ़ने वाले लोग इसका सही मतलब जानते हैं? देखा जाए तो यह एक  अनुष्ठान अभ्यास है किसी बिंदु पर अक्सर कि अब आप क्या महसूस कर रहे हैं। एक सकारात्मक सोच की प्रवृति होना बेहद जरुरी है।

चलिए जानते हैं कि हनुमान चालीसा इतनी शक्तिशाली क्यों है?

चिरंजीवी हैं भगवान हनुमान

अगर आप चिरंजीवी का अर्थ नहीं समझते तो हम आपको बताते हैं – इसका अर्थ है अमर। यानी की भगवान् हनुमान कभी मर नहीं सकते क्योंकि और देवी सीता ने यह अम्र होने का वरदान दिया था। उनहेंयह वरदान इसलिए दिया गया क्योंकि उन्होंने भगवान् राम की नि: स्वार्थ सेवा और भक्ति की थी। शास्त्रों में कहा भी गया है कि हनुमान जी हमेशा उनकी रक्षा के लिए आगे आते यहीं जो उनके लिए ईमानदार हैं और पूरी मन और श्रद्धा से उनकी प्रार्थना करते हैं।

पाठ में क्या सच में शक्ति है

बहुत से लोगों का मानना है कि Hanuman Chalisa का पाठ करना बहुत ही भक्ति का और इसे कोई भी व्यक्ति कर सकता है। आप को शायद यह ज्ञात न हो लेकर तुलसीदास की भावी पीढ़ियाँ आज तक ही भगवान् के इस सच्चे प्रेम भक्त की स्तुति करती है। कहते हैं भगवान् के इस भक्त को निःस्वार्थ सेवा, शौर्य, विनम्र स्वभाव के लिए जाना जाता है, जो हमेशा ही अपने भक्तों की सेवा में लगे रहते है।

दोहो की शक्ति

कहते हैं भगवान् की इस चालीसा के दोहे बहुत ही शक्तिशाली हैं। पहले दोहे का अर्थ ही यही है कि अगर आपसे जानबूझकर या अनजाने में किसी को कुछ गलत कहा हो या उसे ठेस पहुंचाई हो तो वो आपके इन दोषों से मुक्ति दिलाएगा। दूसरा दोहा आपके जवान में जितनी भी परेशानी है उससे लड़ने की ताकत देगा और कठिनाइयों को दूर करके आपके ज्ञान में वृद्धि करेगा।

हर चोपाई से मिलेगा फल

Hanuman Chalisa की हर चोपाई में एक गहरा अर्थ छिपा है। अगर आप देखें तो इसकी शुरुआत ही आपको ताकत देने से शुरू होती है। चालीसा का चौपाई पढ़ने से आपको दिव्य ज्ञान प्राप्त होता है। अगर हम तीसरी चौपाई को देखें जिसमें लिखा गया है कि “महावीर विक्रम भजरंगी… ..” जिसका अर्थ है कि यदि आप जीवन में कभी भी गलत संगत में पड़ जाते हैं तो आपको भगवान् हनुमान जी सही राह दिखाते हैं और उन बुरी संगत से दूर करते है। पूरी की पूरी चौपाइयां आपको एक अद्भूत ताकत देती हैं और साथ ही सकारात्मक विचार और सोच उत्तपन करती है। 7 वीं और 8 वीं चौपाइयों को ध्यान से पढ़ने से आप को भगवान् राम की भक्ति में खोने में मदद मिलेगी।

संबंध और स्थिति

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया कि हर चौपाई का अपना एक अर्थ दिया गया है। उपरोक्त चौपाइयों के बाद “लया संजीवन…” वाली चौपाई में साफ़ कहा गया है कि भगवान् आपकी पद पद पर रक्षा करेंगें। आप तो जानते ही हैं कि आजकल रिश्ते बदल रहे हैं उनमें गलतफहमी पैदा हो रही हैं। चाहें वो मां बाप का रिश्ता हो या आपका भाई बहन का कोई भी इससे नहीं बचा। ऐसे में आपसी प्रेम और एकता को बढ़ावा देने का काम करती है चालीसा की 12वीं चौपाई।

मानवता और प्रसिद्धि

हर किसी को अपने जीवन में कुछ नाम कमाना है और प्रसिद्धि हासिल करनी है। ऐसे में आपको हनुमान चालीसा का पाठ  काफी मदद कर सकता है। इस चालीसा में दी गई 13 वीं, 14 वीं और 15 वीं चौपाइयों में यही बात कही गई है कि आप बहुत ही प्रसिद्ध हो सकते हैं , नाम कमा सकते हैं। आगे बढ़ें तो 16 वीं और 17 वीं चौपाइयां भी कुछ इसी तरह का वर्णन करती है कि इंसान इसका पाठ रोजाना करे तो उसे खोई हुई स्थिति वापस मिल सकती है और मनचाहा पद मिल सकता है।

नकारत्मक शक्ति से बचाव

हमने अक्सर Hanuman Chalisa पढ़ते हुए सुना होगा लेकिन पूरी तरह से इसका अर्थ नहीं समझा होगा कि 20 वीं चौपाई में लिखा गया है कि इसे पढ़ने से हमारे में इतनी शक्ति आ जाएगी कि कोई भी नकारात्मक सोच, बाधा और कठिन कार्य से हमें भय नहीं होगा। हम  इन सब बाधाओं को आसानी से दूर कर सकने में सक्षम हो जाएंगें 21 वीं और 22 वीं चौपाई हमारे ग्रहों की दिशा बदलने और उनका बुरा प्रभाव खत्म करने के लिए मानी जाती है। 24 वीं चौपई हमें हर प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा से दूर रखने में मदद करती है।

shree-lanka

स्वास्थ्य सुधार और विजय का प्रतीक

हनुमान चालीसा की 25 वे चौपाई हमें हष्ट पुष्ट रखने की बात कहती है, हमें हर रोग से मुक्ति मिलती है और स्वास्थ जीवन मिलता है। हम हर दर्द को सहन करने में सक्षम होंगें। इसकी 26 वीं चौपाई हमें हर मुश्किलों से बचाती है। दिव्य अनुग्रह द्वारा 29वीं चौपाई वही प्रसिद्धि दिलाने और 30 वीं चौपाई बुराई पर अच्छाई की जीत दिलाती है। 31 वीं चौपाई में तमाम शक्तियां और धन, ऐश्वर्य मिलने की बात कहती है।

अंत में इस तरह आप समझ ही गए होंगे कि Hanuman Chalisa में कितनी शक्ति है। केवल इसके पाठन से ही हमें लाभ नहीं होता बल्कि सच्चे मन और लग्न से इसका पाठन करने से हमारी सोच सकारात्मक बनती है और उसी ऊर्जा का निर्माण होता है। जिस से धीरे-धीरे हमारे सभी काम बनते चले जाते हैं और हम वो हर चीज हासिल कर लेते हैं, जो असल में हम अपने जीवन में चाहतें हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *