Latest News in Hindi: बोरवेल में 109 घंटे से फंसे बच्चे को नहीं बचा सका रेस्क्यू ऑपरेशन

Latest News in Hindi: भारत में बोरवेल में बच्चों के गिरने के कई मामले सामने आ चुके हैं। भारत में  इस तरह के हादसे आए न आए दिन हो रहे हैं। ऐसा ही एक मामला है, पंजाब के संगरूर जिले का, जहां एक बच्चा 120 फुट गहरे बोरवेल में गिर गया था। बच्चे को बचाने के रेस्क्यू टीम को बुलाया गया। लगभग 109 घंटे के रेस्क्यू ऑपरेशन से बच्चे को निकाला गया। लेकिन बच्चे के बोरवेल से निकलने के कुछ देर बाद ही उसे मृत घोषित कर दिया गया।

दरअसल बच्चा (फतेहवीर सिंह) अचानक से गुरुवार को 120 फ़ीट गहरे बोरवेल में जा गिरा। रेस्क्यू ऑपरेशन करने वाली National Disaster Response Force ने पहले तो बच्चे को रस्सी की सहायता से बाहर निकालने की पूरी कोशिश की, लेकिन जब सफलता हाथ नहीं लगी, तो बोरवेल के ठीक सामन्तर में एक सुरंग खोदी गई। लेकिन कुछ तकनीकी दिक्कतों के चलते काम में देरी हुई। जिसके कारण बच्चे को बाहर निकालने में समय लग रहा था।

National Disaster Response Force


बच्चे को बोरवेल से निकालने के लिए स्पेशल टीमों ने पुरे दिन रात मेहनत करके बोरवेल के समानांतर सुरंग खोदी और घटना के 109 घंटे बाद बच्चे को बाहर निकाला। बच्चे को आपातकालीन सहायता देने के लिए डॉक्टरों की एक पूरी टीम और एम्बुलेंस वहीं मौजूद थी। जैसे ही बच्चे को बाहर निकाला गया उसे एयर एंबुलेंस के जरिए इलाज कराने के लिए पीजीआई चंडीगढ़ ले जाया गया, जहां बच्चे को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

घटना होने के 40 घंटे बाद यानी शनिवार की सुबह करीब पांच बजे बच्चे में हलचल देखी गई थी। लेकिन उसके बाद से बच्चे के शरीर में कोई हलचल नहीं हुई। हालांकि बच्चे के लिए बोरवेल के अंदर ऑक्सीजन की व्यवस्था की गई थी और बच्चे पर नजर रखने के लिए कैमरा भी लगाया गया था। इसके साथ ही इस रेस्क्यू ऑपरेशन में National Disaster Response Force के अलावा डेरा सच्चा सौदा के 200 वॉलेंटियर ने भी बचाव कार्य में अपना योगदान दिया था। उसके बाद भी वो सभी बच्चे को बचाने में कामयाब नहीं हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *