Swachh Bharat Abhiyan in Hindi: भारत स्वच्छ रखने की जिम्मेवारी आखिर किसकी?

Swachh Bharat Abhiyan in Hindi: स्वच्छता केवल हमारे घरों के लिए ही जरुरी नहीं होती बल्कि राष्ट्र की आवश्यकता होती है। इससे फायदा अकेले आप का नहीं पुरे देश का होता है। हमारा घर आँगन जब स्वच्छ होगा तो पूरा देश ही स्वच्छ हो जाएगा। इसके लिए देश के प्रधानमंत्री जी ने 2 अक्टूबर 2014 यानी की महात्मा गांधी जी की जयंती वाले दिन Swachh Bharat Abhiyan की शुरुआत की। उस अभियान में उन्होंने कहा था देश की सफाई की जिम्मेदारी क्या केवल सरकार और कर्मचारियों की ही है। देश के नागरिकों की क्या कोई भूमिका नहीं है। इस मानसिकता को बदलना होगा, तभी देश स्वच्छ होगा।

इस अभियान का सबसे बड़ा उद्देश्य था खुले में शौच बंद करवाना। जिसके कारण हर साल हजारों बच्चों की मौत हो जाती है। सरकार ने इस योजना पर 1 लाख 34 हजार करोड़ रूपये खर्च करने का प्रस्ताव रखा। जिसके तहत गावों और शहरों में सार्वजनिक शौचालय का निर्माण करना था। शौचालय उपयोग को बढ़ावा देने के लिए कार्यक्रम शुरू किए गए। लगातार टीवी पर विज्ञापन दिए गए। मतलब सरकार ने जागरूकता लाने के लिए अलग से खर्च किया। अब बारी आती है निर्माण कार्य की जो प्रगति पर है। शौचालय बन कर तैयार हुए, जिन्हें इज्जतघर का नाम दिया गया।

अब जरा वास्तविकता देखें….

इन तस्वीरों के माध्यम से आप समझ पाएंगें कि Swachh Bharat Abhiyan सफल है या फेल….
सरकार ने कम से कम 12 से 15 हजार रुपए पर एक शौचालय का निमार्ण तो करवा दिया, पर लोगों ने उसे अपने वयक्तिगत इस्तेमाल के उपयोग करना शुरू कर दिया। दूसरी सबसे बड़ी योजना की बात करते हैं Clean ganga Mission। देश की बहमूल्य विरासत है हमारी गंगा नदी जिसकी सफाई की जिम्मेदारी केवल सरकार की नहीं थी, लोगों की भी थी।

village

village1
village2

दूसरी सबसे बड़ी योजना की बात करते हैं Clean ganga Mission देश की बहमूल्य विरासत है हमारी गंगा नदी जिसकी सफाई की जिम्मेदारी केवल सरकार की नहीं थी, लोगों की भी थी।

लकिन हकीकत ये है…

नदी में ये फूल, मालाएं बहाने वाले सरकार या उनके कर्मचारी तो नहीं है।

ganga river1
ganga river

साफ़ सुथरी सड़क पर गंदगी फैलाने वाले लोग और कोई नहीं हम ही हैं।

throw garbag

भारत एक बड़ा विशाल देश है। एक अकेला व्यक्ति दुनिया नहीं बदल सकता है। लेकिन हम कहते हैं ये संभव है, अगर हर अकेला व्यक्ति साथ हो जाए। हर एक व्यक्ति को सोचना होगा ये देश मेरा हैं। हम केवल सरकार पर निर्भर नहीं हो सकते। हमें खुद से भी सफाई अभियान में योगदान देने की जरुरत है। केवल सोशल मीडिया पर फोटो शेयर कर सरकार को जिम्मेदार ठहराना सही नहीं है। केवल घर बैठे खाली फोटो पोस्ट करना और लोगों की पोस्टों पर टिप्पणियां करने से तो भईया देश साफ़ होने वाला नहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *