Social Media News: रोते हुए ट्रैफिक कॉन्स्टेबल की वायरल वीडियो का क्या है सच

Social Media News: वर्दी वालों पर होने वाले अत्याचार भी कितने दिन छिप सकेंगें, जब आपके पास सोशल मीडिया की ताकत हो। हां, सही पहचाना सोशल मीडिया एक ऐसी ताकत बन चुका है, जहां अपराध और अत्याचार ज्यादा दिन तक लोगों की नजर से दूर नहीं रह सकते। अब अत्याचार होने वाले को चुप रहने की जरुरत नही है। वो छाए कोई आम आदमी हो या फिर वर्दी वाला अपराध का शिकार हर कोई हो सकता है। इस अपराध को जनता के सामने लाने का काम सोशल मीडिया बखूबी कर रहा है।

हाल ही में सोशल मीडिया पर एक ट्रैफिक कॉन्स्टेबल ने अपने साथ हुए अत्याचार को लेकर एक वीडियो शेयर किया है। यह वीडियो है दिल्ली के ट्रैफिक कॉन्स्टेबल कपिल का, जो सीमापुरी ट्रैफिक सर्किल पर तैनात है।

वीडियो बनाने की वजह:

इस वीडियो में कपिल ने ट्रैफिक कांस्टेबल की वर्दी पहनी हुई है जिसमें उन्होंने  ट्रैफिक विभाग के दो कर्मियों पर यह इल्जाम लगाया है कि वो दोनों उसे काफी समय से परेशान कर रहे हैं। जिसमें से एक मुंशी और दूसरा ACP के रीडर है। कपिल वीडियो में कहते हैं कि वो निजी काम से ट्रैफिक इंस्पेक्टर से मिलने पहुंचे थे। जिस बात को लेकर अंदर बैठे मुंशी और ACP के रीडर ने उनकी गैरहाजिरी लगा दी और उसको धमकी देते हुए कहा कि ये देख हमारी ताकत, हमारी ताकत इतनी है कि इससे तेरी नौकरी जा सकती है।

TRAFFIC POLICE 1

कपिल वीडियो में जोर-जोर से रोते हुए अपनी बात कह रहे हैं। साथ में उन्होंने ये बात भी कही है कि वो इनकी हरकतों से इतना तंग आ चुके हैं कि वो कुछ कर लेंगें अपनी जिंदगी के साथ अगर उसकी मदद नहीं की गई।

दिल्ली पुलिस वीडियो के वायरल होने के बाद कपिल द्वारा लगाए आरोपों की जांच कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *