छोटे उद्योग के लिए बड़ा फायदा देगी सरकार की ये नई योजना


Pradhan Mantri Mudra Yojana अक्सर आप सोचते हैं कि 9 से 5 जॉब करने की बजाए अगर मैं खुद का बिज़नेस शुरू करूं। लेकिन उसके साथ यह समस्या कि अपना कोई छोटा बिज़नेस शुरू करने के लिए आपको पैसों की जरुरत होती है। जिसके लिए आप ऋण लेने के बारे में विचार करते हैं।

लेकिन बैंक से ऋण लेना इतना आसानी नहीं है। इसलिए सरकार ने अब इस समस्या को हल करने के लिए भी एक योजना शुरू की है, जिससे आप आसानी से थोड़ी मात्रा में ऋण ले सकते हैं। कुछ समय पहले भारत सरकार ने  Pradhan Mantri Mudra Yojana शुरू की जो आपको 10 लाख रुपये तक का ऋण प्रदान करती है।

Pradhan Mantri Mudra Yojana माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी द्वारा शुरू की गई है। इस योजना का उद्देश्य यही था कि भारत में छोटे और कुटीर उद्योगों को बढ़ावा मिल सके। इस योजना के बारे में खुद भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुचना दी थी।  साथ ही ये भी कहा कि, जो लोग स्‍वरोजगार में कार्य कर रहे हैं उन्हें ध्यान देना चाहिए कि अब आप Pradhan Mantri Mudra Yojana के तहत 50 हजार से लेकर 10 लाख की राशि का लोन बैंक से ले सकते है।

Pradhan Mantri Mudra Yojana के बारे में आवश्यक जानकारी

इस Pradhan Mantri Mudra Yojana को तीन भागों में बांटा गया है। 

इसमें सबसे पहले है शिशु योजना जिसके तरह आप 50,000 तक का ऋण ले सकते है। उसके बाद है किशोर, जिसमें 50, 000 से 5 लाख रु तक का  ऋण ले सकते हैं। इसके अलावा आखिर में है तरुण जिसके लिए ऋण राशि 5 लाख से 10 लाख रुपये तक की है।

MODI-JI

अब आप योजना के बारे में जान चुके हैं। लेकिन कौन लोन ले सकता है- यह जानना भी जरूरी है।

मुद्रा लोन कौन ले सकता है

कोई भी व्यवसायी और बिज़नेस कंपनी जो पहले किसी ऋण पुनर्भुगतान के लिए दोषी नहीं रहा है, और उसने अपने पिछले सारे लोन को चुका दिया है, उसे ही Pradhan Mantri Mudra Yojana के तहत लोन मिल सकता है। इस प्रकार कोई भी व्यक्ति और किसी व्यवसाय का मालिक, निजी और सार्वजनिक क्षेत्र में कार्य कर रही कंपनियां, स्वामित्व फर्म मुद्रा ऋण के लिए आवेदन कर सकती है।

लोन लेने का उद्देश्य

इस योजना के तहत व्यावसायिक ऋण उपलब्ध करवाया जाता है, इसलिए आप इस ऋण राशि का उपयोग अपने व्यक्तिगत ज़रूरतों को पूरा करने के लिए इस्तेमाल नहीं कर सकते। इसका प्रयोग आप केवल अपने छोटे व्यवसायों को शुरू करने के लिए कर सकते हैं। साथ ही व्यवसाय के लिए ज़रुरी विपणन उद्देश्यों को पूरा करने के लिए भी प्राप्त पूँजी का उपयोग किया जा सकता है।

The-purpose-of-taking-a-loan

लोन तो आपको आसानी से मिल जाएगा। लेकिन लोन पर ब्याज दरें भी निश्चित की जाती हैं। इस Pradhan Mantri Mudra Yojana में ब्याज दरें कितनी हैं, यह जानना भी बहुत जरूरी है।

ब्याज दर

शिशु: शिशु ऋण पर 50,000 पर ब्याज दर 1% प्रति माह से यानी 12% सालाना से शुरू हो सकती है। किशोर: 50,000 और अधिकतम रु पर 5 लाख पर ब्याज दर बैंक द्वारा अनुमोदित ऋण और उधारकर्ता की ऋण योग्यता के आधार पर अलग अलग हो सकती हैं। इसके अलावा तरुण: ऋण में 5 लाख से 10 लाख पर ऋणों पर लागू ब्याज की दर एक मामले से दूसरे मामले के आधार पर अलग रखी गयी हैं।

Pradhan Mantri Mudra Yojanaका बुनियादी ढाँचा छोटे व्यपारियों के विकास और प्रचार गतिविधियों का समर्थन करने के लिए ही बनाया गया है। इस यर्ह की योजना से भविष्य में सूक्ष्म उद्योगों में बढ़ावा होगा साथ ही बेरोजगारी को भी कम किया जा सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *