प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना और इसके लाभ


Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana: भारत को एक कृषि प्रधान देश कहा जाता है। देश की अधिकतर ग्रामीण जनता का मुझी आया का साधन कृषि ही है। वो लोग खेती बाड़ी करके अपने परिवार और पूरे देश के लोगों का पेट भरते हैं। देश की अधिकतर जनता खाने के लिए किसानों पर ही निर्भर रहती है। उसके बाद भी किसानों की स्तिथि हमारे देश में अच्छी नहीं मानी जाती। देश में ग्लोबल वार्मिंग के बढ़ने से हर साल प्राकृतिक आपदा जैसी घटनाएं होती रहती हैं, जिसका नुक्सान हमारे देश के किसान ही उठाते हैं।

इन घटनाओं से फसलों को भरी नुक्सान पहुंचता हैं, जिसके कारण न तो किसानों को उसकी भरपाई का पैसा मिलता है और न ही देश को पर्याप्त अनाज। लेकिन अब इस समस्या को खत्म करने के लिए सरकार ने Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana की शुरुआत की है, जो इस संकट और आपदा के समय किसान को राहत पहुंचने का कार्य करती है।

भारत की केंद्र सरकार ने Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana को 13 जनवरी 2016 में शुरू किया था, जिसका उद्देश्य था भारत की जनता को ऐसे संकट से मुक्ति दिलाना जिसमें वो बारिश, ओलों, या आग लगने की स्तिथि में फसल खराब होने का नुक्सान उठाते हैं। सरकार की Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के अनुसार किसानों को खरीफ फसलों के लिए केवल 2% का भुगतान करना होगा जबकि रबी की फसल के लिए 1.5% का ही भुगतान करना है। 

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के उद्देश्य

  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य प्राकृतिक आपदाओं, कीटों और बारिश के होने से फसल को होने वाले नुक्सान से किसानों को बीमा और वित्तीय सहायता प्रदान करके मदद करना है। 
  • किसान लगातार खेती करता रहे, उसे किसी भी तरह की वित्तीय कमी न आए, उसके लिए किसानों की आय को स्थिर करना है। 
  • किसानों को नवीन उपकरण का ज्ञान देना और आधुनिक कृषि पद्धतियों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना ही Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana का उद्देश्य है। 
  • कृषि के क्षेत्र में ऋण का प्रवाह सुनिश्चित करना भी जरुरी है, इसलिए यह योजना इस बात पर भी ध्यान देती है।

इसके लिए आवेदन कैसे करें

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के लिए आवेदन करने के लिए आप दो तरीकों का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप चाहे तो ऑफलाइन और दूसरा ऑनलाइन तरीके से आवेदन कर सकते हैं।  उसके लिए आपको एक फॉर्म भरना होगा। ऑफलाइन के लिए आपको बैंक जाकर फॉर्म लेना होगा। अन्यथा आप गवर्नमेंट की साइट (http://pmfby.gov.in) पर जाकर भी फॉर्म भर सकते हैं।

PM-MODI-YOJNA

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के लिए जरुरी दस्तावेज

  1. इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसान को अपनी फोटो, एक आईडी कार्ड चाहे वो पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड या आधार कार्ड हो और उसके साथ एड्रेस प्रूफ देना होगा। आप यहां https://pmfby.gov.in/ अपना रजिस्टर करा सकते है!
  2. यदि खेत किसान के नाम पर है और उसी का है तो उसका खसरा नंबर / खाता नंबर फॉर्म के साथ जोड़ें। 
  3. इसके साथ ही अगर किसान ने खेत में फसल की बुवाई की है, तो आपको इसका सबूत भी फॉर्म के साथ पेश करना होगा। इसके लिए आप गाँव के पटवारी, सरपंच या प्रधान लोगों से एक पत्र लिखवाकर उनके साइन करवा सकते हैं। इसके अलावा यही आपने खेत किराए पर लिया है और तब उसमें फसल की बुवाई की है, तो खेत के मालिक के ऊपर लिखे सभी दस्तावेज़ भी साथ में लगाने होंगें।
  4. सभी दस्तावेज़ों से संबंधित कार्यवाही पूरी होने के बाद Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के तहत पूरा पैसा आपके बैंक खाते में आ जाएगा लेकिन उसके लिए आपको एक रद्द चेक लगाना भी अनिवार्य है।

इस योजना की जरुरी बातें

  1. किसान को फसल की बुआई करने के 10 दिनों के भीतर ही फॉर्म भरना होगा
  2. अगर आपके फसल काटते समय 14 दिनों के बीच कोई प्राकृतिक आपदा हो जाती है, जिससे फसल को नुकसान पहुंचता है, उसके बाद भी आप Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana का लाभ उठा सकते हैं.
  3. इस योजना से केवल प्राकृतिक आपदा से होने वाले नुक्सान पर ही भरपाई की जाएगी।

भारत सरकार ने एक एंड्रॉयड फसल बीमा ऐप भी लॉन्च की है, जिसमें इस योजना से जुड़ी सभी जानकारी मौजूद हैं।

Kisan Registration क्या है, बिहार किसान ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

5 thoughts on “प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना और इसके लाभ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *