प्रकृति का नायाब तोहफा है कर्नाटक का Jog Falls

भारत के कई राज्यों में बहुत ही खूबसुरत जल प्रपात पाए जाते हैं। इनकी सुंदरता देखते ही बनती है, जब आप इन जगहों पर जाते हैं, तो आपका वहां से आने का मन नहीं करता। ऐसी प्रकृति की खूबसूरती आपको बड़े नगरों के बीच देखने को नहीं मिलती। एक शांत जगह हर किसी को मोहित कर लेती है। ये सुंदर जलप्रपात आपको आकर्षित करते हैं और आप प्रकृति से जुड़ा महसूस करते हैं। ऐसा ही एक सूंदर जलप्रपात है Jog Falls

यह जलप्रपात कर्नाटक के पास शिमोगा और उत्तरी कनारा की सीमाओं पर बना बहुत ही आकर्षक स्थान है। यह भारत का दूसरा सबसे बड़ा जलपापात भी है। कर्नाटका घूमने आने वाले लोग यहां का नजारा लिए बिना नहीं जा पाते। इसलिए हर साल हजारों पर्यटक इस अद्भुत दृश्य वाले स्थान को देखने आते हैं।

Jog Falls शरावती नदी के पश्चिमी घाट पर बना है जो 850 फीट की ऊंचाई यानी की लगभग 223 मीटर से ऊपर से गिरता है। इसे भारत में दूसरे सबसे बड़े जलप्रपात के साथ साथ पहला सबसे लंबा झरना भी है। यह खूबसूरत झरना घने सदाबहार जंगलों के बीचों बीच बना हुआ है। इस झरने के सबसे नजदीक वाला रेलवे स्टेशन तलगुप्पा है जो कर्नाटक के शिमोगा जिले से 16 किमी की दुरी पर है।

Jog-Falls-850ft

इसके अलावा यहां चार और प्रपात बने हुए हैं। ये सभी प्रपात भी शिरावती नामक नदी पर बने हैं और बहती नदी से पानी जब गिरता है तो इन जलप्रपातों का निर्माण होता है। प्रथम प्रपात को राजा का नाम दिया गया है जो सबसे ऊपर की ऊंचाई से गिरता है। इस प्रपात का पानी १३२ फुट गहरे कुंड में जाकर गिरता है, देखा जाए तो यह कुंड बहुत अधिक गहरा है, लेकिन आप इस प्रपात के ऊपर से नीचे कुंड में आसानी से देख पाते हैं। दूसरा प्रपात जिसे रोरर नाम दिया गया है एक तीव्र प्रवाह के साथ घुमावदार मार्ग से होता हुआ एक गुहा में पहुंचकर राजा प्रपात से मिलता है। तीसरा प्रपात जिसे रॉकेट कहा जाता है- इसकी जल की धारा तेज  पंखे के समान नीचे गिरती है और रंग-बिरंगे चमकीले पानी की तरह लगती है। 

अंत में नदी के दक्षिण चतुर्थ यानी की रानी प्रपात जो पट्टियों के समान पानी की चादरों का क्रम है, जो एक उन्हें शिखर से गिरता नजर आता है। अगर आप इस का सूंदर नजारा मिस नहीं करना चाहते तो आपको वहां तक चलकर जाना होगा। इसका  रास्ता बहुत ही मुश्किल है और वहां तक पहुंचा इतना भी आसान नहीं है। लेकिन वहाँ तक पहुँचे बिना आप इसकी सुंदरता का मोहक नज़ारे का मजा नहीं ले पाएंगें।

अगर आप यहां घूमने का मन बनाते हैं तो आपको सर्दियों में आना चाहिए। गर्मियों में पानी का स्तर कम हो जाता है। लेकिन मानसून में तेज बारिश होती है और पानी स्तर अधिक होने के कारण ये जगह, थोड़ी खतरनाक हो सकती है। क्योंकि रास्ते दुर्गम हो जाते हैं और आपके लिए पहुंचना मुश्किल भी हो सकता है। लेकिन आप एक साहसिक कार्य पर निकले हैं तो मॉनसून में यहां आ सकते हैं। इस दौरान जॉग फाल्स  में आप सुंदर इंद्रधनुष के साथ शानदार दृश्य का अनुभव ले सकते हैं। इस जलप्रपात पर लिंगनमाकी बांध बना हुआ है। जब पानी का स्तर बढ़ता है तो इसके घूमने के लिए खोला गया गेट बंद हो जाता है। लेकिन आप इसके निचले भाग में एक साहसिक सैर पर जा सकते हैं।

Jog Falls को कुछ लोग गेरुसोप्पा फॉल्स के नाम से भी जानते हैं। अगर आप यहाँ आने का मन बना रहे हैं तो आपके लिए सही समय है कि आप यहां अगस्त से दिसंबर महीने के बीच आएं। उस समय यहां का मौसम अच्छा होता है और आप यहां घूमने का आनंद भी उठा सकते हैं। इस जलप्रपात पर आप आपने तलगुप्पा स्टेशन से टैक्सी या फिर बसों का इस्तेमाल करना होगा। यहां तक पहुंचने के लिए आपको सरकारी और निजी बस सेवाएं दोनों मिल जाएंगी।

आस-पास घूमने की जगहें

Jog Falls के अलावा आस-पास ऐसी बहुत सी जगहें हैं जहां आप अच्छी छुट्टियां बिता सकते हैं और अपने सफर को पूरा कर सकते हैं:

थ्वेयर कोप्पा लायन और टाइगर रिजर्व

यह रिजर्व शेट्टीहाली अभयारण्य के अंदर स्थित है। यहां शेरों और बाघों की दुर्लभ प्रजातियों पाई जाती हैं और इसकी लोकप्रियता का भी यही कारण है। इसके अलावा इस रिजर्व में भालू और हिरण की विभिन्न किस्में भी पाई जाती हैं। आप जगल के सबसे खुंखार जानवरों को यहां टहलता हुआ पाएंगें।

tiger reserve

कनूर का किला

इस किले को कुछ लोग केलाडी कोटे के नाम से भी जानते हैं। किले का नाम यहां शासन करने वाले केलाडी वंश के नाम पर रखा गया है। ये बहुत ही खूबसुरत किला है, जिन्हें इतिहासिक चीजों से लगाव है और उन्हें ऐसे स्थान पर घूमना अच्छा लगता है तो आप यहां का भर्मण कर सकते हैं। यहां आपको खाने से लेकर रहने तक की सुविधाएं आसानी से मिल जाएगी।

Kannur-Fort

मुझे लगता है सुंदर और आकर्षक नज़ारे का आनंद लेने के लिए आपको इस स्थान पर घूमने की योजना के बारे में सोचना चाहिए। एक यादगार प्रकृति की यात्रा का अनुभव हमेशा ही शानदार होता है और आप इसमें खो जाना जरूर पसंद करोगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *