वो पांच चीजें जो हर Indian Wedding में आपको देखने को मिल जाएंगी

शादी किसी भी जोड़े के लिए सबसे यादगार दिन माना जाता है। शादी किसी दो लोगों के बीच नहीं बल्कि दो परिवारों के बीच होती है, खासकर की हमारे भारत में। Indian Wedding में इसके महत्व का पता इसकी पवित्रता और इसे पूरा करने के लिए निभाई जाने वाली रस्मों से किया जा सकता है। आज भी बहुत से लोग शादियों में पुराने रीती रिवाजों का अनुसरण करते हैं।

क्षेत्रीय, धार्मिक, सांस्कृतिक और पारंपरिक विविधता भले ही हो जाएं लेकिन कोई भी अपने रिवाजों से कभी दूर नहीं रह पाटा। हालाँकि सभी शादियों के पीछे का कारण समान है, और रिवाज अलग अलग। लेकिन कुछ चीजें है जो कभी नहीं बदलती।

मुंबई हो गोवा, कोलकाता हो  राजस्थान। रीती रिवाज बदलेंगें, लेकिन विवाह के पीछे का उत्साह और कारण कभी नहीं बदलते। भले जी शादी दो लोगों के बीच होती हो, लेकिन इसमें पूरा परिवार शामिल होता है। शादी की योजना की बात आती है, तो दोनों परिवार साथ मिलकर ख़ुशी ख़ुशी इस कार्य को संपन्न करना पसंद करते हैं।

यहां हर भारतीय विवाह की वो पांच चीजें बताई गई हैं, जो कभी नहीं बदलती

दुल्हन

दुल्हन किसी भी शादी की सबसे खूबसूरत और महिला होती है। एक दुल्हन ही है, जिसकी खातिरदारी में कोई कमी नहीं आने दी जाती। हर कोई उसकी हर ख्वाइश पूरी करने में लगा होता है। जहां दुल्हन होती है, उस घर में चारों तरफ कुछ न कुछ रस्में चलती रहती हैं। मेहंदी, संगीत और हलदी फंक्शन से लेकर विदाई तक न जाने कितने अनगिनत रस्में देश के हर कोने में एक सामान निभाई जाती हैं।

Bride

भोजन

आप भारत के किसी भी कोने में चले जाएं, आप बहुत से रिवाज शादी के फंक्शन में देखने को मिलेंगें। लेकिन कोई भी Indian Wedding बहुत सारे व्यंजनों के बिना पूरी नहीं होती है। तरह तरह की मिठाई और व्यंजनों हर शादी वाले घर में बनाए जाते हैं। यह एक ऐसी चीज है जिसमें हर कोई अपनी पसंद और राय देता है। खाने के वयंजन भले ही अलग हो लेकिन बारातियों (वधु पक्ष) को भोजन खिलाए बिना शादी पूरी नहीं मानी जाती।

food at indian wedding

आभूषण

भारतीय परंपरा के अनुसार लड़कियों को घर की समृद्धि का सूचक कहा जाता है। घर की लक्ष्मी कही जाने वाली नयी दुल्हन को प्रत्येक संस्कृति में, शादी के दिन विशेष गहने पहनाए जाते हैं। भारत में होने वाली प्रत्येक शादी में सोने के आभूषण नई दुल्हन को पहनाना सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है।

Jewelry

रिश्तेदार

भारतीय परिवार एक साथ अक्सर तभी इकट्ठे होते हैं जब किसी के बेटे या बेटी की शादी समारोह होता है।  शादी की रस्मों में शामिल होने के लिए पास के ही नहीं बल्कि दूर-दूर से रिश्तेदार इकट्ठे होते हैं। सभी रीती रिवाजों के साथ शादी करना इस देश की परंपरा रही है और ऐसे में बिना परिवार के शामिल हुए, शादी संपूर्ण नहीं कहलाती।

Relative

आशीर्वाद

शादी के इन 3 से 4 दोनों में सभी एक दूसरे के करीब आते हैं। पूरा परिवार एक साथ होता है, हम हंसी करते हैं, साथ रिवाजों में हिस्सा लेते है। इन तीन दिनों में एक दूसरे की बीती बातों को भूलते हैं। पुरे भारत में ये रिवाज एक सा है। शादी के बाद दोनों लड़का और लड़की पुरे परिवार का आशीर्वाद लेते हैं, ताकि वो अपनी नई जिंदगी की शुरुआत बड़े बुजुर्गो के आशीर्वाद से शुरू कर सकें।

blessings after wedding

इन्हीं कुछ भारतीय रीती रिवाजों को ध्यान में रखते हुए ही एक Indian Wedding पूरी तरह से संपन्न हो पाता है। हम दुनिया के किसी भी कोने में चले जाएं, लेकिन शादी समारोह के दौरान अपने रीती रिवाजों से ही विवाह करना पसंद करते हैं। क्योंकि जो मजा यहां की संस्कृति और शादी में हैं वो मजा कहीं और कभी नहीं मिल सकता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *