De De Pyaar De Movie Review: प्यार के बीच उम्र की कोई दीवार नहीं होती

De De Pyaar De Review हर शुक्रवार बॉलीवुड के नाम होता है। आए शुक्रवार बॉलीवुड की कोई न कोई फिल्म बॉक्स0 ऑफिस पर रिलीज़ होती ही हैं। आज कॉमिडी किंग अजय देवगन (Ajay Devgan) की फिल्म ‘दे दे प्यार दे’ रिलीज हुई। यह एक तरह की बॉलीवुड मसाला फिल्म है। फिल्म में सह कलाकार के रूप में तब्बू (Tabu) और रकुल प्रीत सिंह (Rakul Preet Singh) भी अहम् भूमिका में हैं। फिल्म के ट्रेलर ने तो बहुत वाहवाही लूटी थी, चलिए जानते हैं फिल्म की स्टोरी में क्या है खास…

De De Pyaar De Review:

फिल्म की कहानी बहुत ही साधारण है इसमें ऐसा कुछ नहीं है जो आपको शायद पहले से न पता हो। ये कहानी एक 50 साल के बिजनेसमैन आशीष (अजय देवगन) की है। जो लंदन में अपने परिवार से अलग रह रहा है। यहां आने के बाद उसे अपनी से आधी उम्र की लड़की आयशा (रकुल प्रीत सिंह) से प्यार हो जाता है और वो उसे अपने परिवार से मिलवाने के लिए इंडिया ले आता है।

आशीष की एक बेटी भी है जो उसे देखकर बिलकुल खुश नहीं होती। वहीं दूसरी ओर आशीष अपनी पत्नी मंजू को आयशा से मिलवाता है। लकिन मंजू और आयशा दोनों के बीच खटपट हो जाती है। उसके बाद आयशा वापिस कुछ समय के लिए लंदन लौट जाती है। आयशा के पीछे मंजू और आशीष के बीच सब ठीक होने लगता है। लकिन अब भी वो आयशा से प्यार करता है। उसके बाद बेटी की शादी में फिर आशीष और आयशा करीब आ जाते हैं।

DE-DE-PYAR-DE 1

क्या है ख़ास –

फिल्म आज के मॉर्डन जमाने पर आधारित है। जो यह साबित करती है कि प्यार के पड़ाव में उम्र कोई दिवार नहीं होती। वो तो किसी भी उम्र में हो सकता है। यहां सब अपने तरीके से जीने के लिए आजाद हैं। कहानी में रकुल प्रीत सिंह अपने किरदार को बहुत अच्छे से निभाती नजर आएंगी लकिन पहले हाल्फ तक उसके बाद की फिल्म तब्बू ने ही संभाली है।

उनके पास इमोशनल और नोकझोंक करने वाले डायलॉग है जो फिल्म देखने के लिए आपको बांधे रखते हैं। अजय देवगन के किरदार से आपको थोड़ी निराशा हाथ लगेगी। क्योंकि फिल्म में अजय अपने किरदार में कुछ उलझे दिखाई पड़ते हैं। फिल्म में जबरदस्त पंच भी हैं जो आयशा और मंजू के हिस्से में आ गए है। ये पंच आपको हँसा सकते हैं बाकी कुछ डबल मिनिंग पंच भी आपको शायद अच्छे लगें।

कुल मिलाकर फिल्म ठीकठाक है। एक बार के लिए आप इसे जाकर देख सकते हैं। कॉमेडी का तड़का आपको काफी हद तक मिल जाएगा। लकिन फिल्म लव राजन द्वारा प्रोडूस की गई है। लेकिन इस बार वो इतना अच्छा शायद नहीं कर पाए जितना की उनकी फिल्म प्यार का पंचनामा और सोनू के टीटू की स्वीटी में उन्होंने किया था। तो उनकी इस फिल्म से ज्यादा उम्मीद लगाना शायद सही न हो। बाकी आप फिल्म देख के खुद निर्णय ले सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *