Ayushman Bharat: प्रधान मंत्री जन स्वास्थ्य योजना और उसके लाभ

Ayushman Bharat: भारत में पिछले कई सालों से सरकार ने लोगों की देखभाल और स्वास्थ्य की और अधिक ध्यान दिया है। जिसमें उन्होंने परिवार के हर एक सदस्य की स्वास्थ्य जरुरत को समझा और उसी के अनुसार इस पर कार्य करने का निर्णय लिया गया। इसलिए सरकार से Ayushman Bharat Yojana की शुरुआत 23 सितम्बर 2018 को प्रधानमंत्री ने झारखण्ड के रांची से की थी। इस योजना के अन्य नाम प्रधान मंत्री जन आरोग्य योजना (PMJAY) या राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना भी हैं। इस योजना का उद्देश्य देश के 10 करोड़ करिवार के 50 करोड़ सदस्यों को स्वास्थ्य लाभ देना है।

Ayushman Bharat Yojana क्या है?

आयुष्मान भारत योजना असल में एक ऐसी  योजना है जो देश के गरीब परिवारों के स्वास्थ्य के लिए कार्य करती है। यह एक तरह की हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम है, जो गरीब लोगों को 5 लाख रूपए तक का स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध करवाती है।

योजना में कौन सी बीमारी का इलाज शामिल है?

Ayushman Bharat Yojana के तहत कई बीमारियों को कवर किया गया है, जिनमें से कुछ महिलाओं के लिए मैटरनल स्वास्थ्य और प्रसव सुविधाओं के लिए विशेष सुविधा दी जा रही हैं। इसके अलावा, गरीब लोगों के लिए संक्रामक, गैर-संक्रामक रोग भी प्रबंधित किए जाते हैं। इसके अलावा, बच्चों से लेकर किशोरों तक हर स्वास्थ्य सुविधा दी जा रही है और महिलाओं को गर्भनिरोधक गोलियां दी जा रही हैं।

इस सुविधा का सबसे बड़ा लाभ यह है कि इसमें सभी पुरानी बिमारियों का इलाज इलाज किया जाता है और अस्पताल का खर्चा और आने जाने यानी की एम्बुलेंस का खर्चा भी सरकार द्वारा कवर किया जाता है।

Ayushman-Bharat-Yojana

आयुष्मान भारत योजना का लाभ किसे मिल सकता है?

Ayushman Bharat Yojana में भारत में रहने वाले 10.74 करोड़ परिवार को इसका लाभ मिल सकता है और मिल भी रहा है। जो परिवार गरीब है या जो स्वास्थ्य सुविधाओं से वंचित रहे हैं वो इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। इस योजना को लागू करने के लिए सरकार ने जनगणना के आंकड़ों के आधार पर किया है जिसमें सामाजिक आर्थिक जाति के लोगों की सूचि तैयार की गई है। इस सेवा को लेने के लिए कोई आयु सीमा नहीं रखी गई है। 

योजना का लाभ कैसे उठाएं?

इस योजना के अंदर अगर कोई मरीज अस्पताल में भर्ती होता है उसके बाद उसे अपने सभी बीमा दस्तावेज अस्पताल परिसर में जमा करवाने होंगें। जब आप दस्तावेज जमा करवा देते हैं तो अस्पताल इलाज के खर्च हुई सभी राशि के बारे में बीमा कंपनी को बताएगी। जिसके बाद बैंक इस सभी दस्तावेजों की पुष्टि करेगा।

कोई भी बीमित व्यक्ति किसी भी सरकारी या निजी अस्पतालों  में जाकर अपना इलाज करवा सकता है। पहले केवल सरकारी अस्पतालों में इलाज होता था अब इसमें निजी अस्पतालों को भी जोड़ा जा चुका है। सरकार इस योजना को बढ़ने के लिए पूरे देशभर में डेढ़ लाख से भी ज्यादा हेल्थ खोलें हैं जो लोगों को आवश्यक दवाएं और जांच सेवाएं प्रदान करते हैं वो भी बिना कोई पैसा लिए। 

मुझे कैसे पता चलेगा कि मैं इस योजना के लिए पंजीकृत हूं?

इस योजना का लाभ पहुंचने के लिए 2011 की जनगणना को शामिल किया गया है। इसमें देश में जितने भी परिवार गरीबी रेखा से नीचे आते हैं उनको Ayushman Bharat Yojana में रखा गया है। उनके लिए सरकार ने एक लिस्ट बनाई है जिसमें आप का नाम है या नहीं यह देखने के लिए सरकार द्वारा बनाई गयी एक वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं।

  आपको अपना नाम देखने के लिए Mera.pm.jay.gov.in पर जाना होगा। जब आप इस वेबसाइट के होम पहुँचेंगें ततो यहां आपको एक बॉक्स मिलेगा। मोबाइल नंबर डालेंगें तो आपके मोबाइल पर एक ओटीपी आएगा। जब आप उसमें ओटीपी डालेंगें तो आपको पता लग जाएगा कि इसमें आपका नाम है या नहीं।  इसके अलावा एक और तरिके से पता किया जा सकता है आपको सिर्फ 14555 नंबर पर कॉल करना है और आप पता कर सकते हैं कि आपको इस योजना का लाभ मिल सकता है या नहीं।

इस योजना के तहत बहुत से गरीब परिवार के लोगों को स्वास्थ सुविधाएं मिली हैं और Ayushman Bharat Yojana से भारत के बीमारी मुक्त होने में काफी मदद मिल सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *