Achala Saptami 2019: पूरे वर्ष भर का पुण्य एक बार में ही प्राप्त करने के लिए रखा जाता है सूर्य सप्तमी का व्रत; जाने महत्व, कथा और पूजा विधि

Achala Saptami को Achla Bhanu Saptami भी कहा जाता है। इस बार Achala Saptami 26 मई, रविवार को आने वाली है। हिन्दू धर्म-ग्रंथों के अनुसार Achala Saptami का विशेष महत्व माना जाता है, क्योंकि इस दिन भगवान सूर्य अपने सातों घोड़े वाले रथ के साथ प्रकट हुए थे।

Achala Saptami का महत्व

शास्त्रों में इस दिन को बहुत ही शुभ कहा गया है। इस दिन भगवान सूर्य की पूजा करने से पुण्य की प्राप्ति होती है। ऐसा माना जाता है कि यदि इस दिन कोई भक्त सच्चे मन से सूर्य देव की पूजा करे तो उसे उसका बहुत लाभ मिलता है। व यक्ति के दुखों का नाश होता है और पापों से मुक्ति मिलती है। शास्त्रों में कहा गया है जो व्यक्ति इस दिन सूर्य की पूजा करता है और बिना नमक वाला भोजन और फलाहार पर व्रत रखता है, उसे भगवान सूर्य की कृपा से साल भर का पुण्य एक साथ ही प्राप्त हो जाता है। इस दिन स्नान इत्यादि करके दीप दान करने से मनोवांछित फल और संतान हीनों को संतान की प्राप्ति होती है।

Achala Saptami से जुड़ी पौराणिक कथा

एक पौराणिक कथा के अनुसार भगवान श्री कृष्ण के पुत्र शाम्ब हुआ करते थे। जिन्हें अपने शारीरिक बल पर बहुत अभिमान हो चूका था। एक बार जब ऋषि दुर्वासा लंबी तपस्या के बाद भगवान कृष्ण से मिलने आए तो उनके दुबलेपन को देख शाम्ब ने उनका खूब मजाक उड़ाया। जिससे ऋषि दुर्वासा क्रोध में आ गए और उन्होंने शाम्ब को कुष्ठ होने का श्राप दे डाला। शाम्ब की ऐसी दशा को देख श्री कृष्ण ने उन्हें भगवान सूर्य की पूजा करने को कहा। शाम्ब ने वैसा ही किया, भगवान सूर्य की उपासना करने के कुछ समय पश्चात ही उन्हें इस रोग से मुक्ति मिल गई। तभी से इस दिन सूर्य की उपासना करने का महत्व बढ़ गया।

Achala Saptami पूजा विधि

GOD PRAYER

इस दिन प्रात काल जल्दी उठकर स्नान करना चाहिए। भगवान् सूर्य की उपासना करके अर्घ्य दान का दान करें। इस दिन व्रत रखने का महत्व है। भोजन में नमक न ले। केवल फलाहार खाने से भगवान प्रसन्न होते हैं, जिससे सभी इच्छाओं की प्राप्ति होती है। गरीबों को दान करने से सूर्य देव प्रसन्न होते हैं।

भगवान सूर्य को प्रसन्न करने के लिए आप इस मन्त्र का भी जाप कर सकते हैं “सूर्य मंत्र ॐ घृणि सूर्याय नम: तथा ॐ सूर्याय नम:”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *